मध्य प्रदेश मोहन यादव को नई सरकार के कड़े फैसले – हादसे करने वालों की खैर नहीं

मध्य प्रदेश मोहन यादव को नई सरकार के कड़े फैसले

हाल ही में 28 दिसंबर को हुए हादसे में मुख्यमंत्री मोहन यादव ने गुरुवार को डंपर से टकराने के बाद बस में आग लगने की घटना के संबंध में कहा है कि कथित लापरवाही के लिए गुना के लिए एक परिवहन अधिकारी और मुख्य चिकित्सा अधिकारी को निलंबित करने का मेरा आदेश है। मैं अभी सामने निकल कर आ रही है कि बुधवार रात जिले में हुए हादसे में 13 लोगों की जलकर मौत हो गई है और 14 अन्य घायल भी हो गए हैं।

मंत्री मोहन यादव ने कहा कि शासन प्रशासन घायलों के इलाज के लिए सभी आवश्यक व्यवस्थाएं सुनिश्चित करेगा साथी उपचार में किसी भी प्रकार की कमी नहीं रहने दे जाएगी मुख्यमंत्री नहीं अभी कहा कि जिला चिकित्सालय गुना के वार्ड में इलाज कर रहेगा।

Join

घायलों के प्रत्येक बेड पर जाकर उनके स्वास्थ्य के संबंध में जानकारी ली तथा उन्हें शीघ्र स्वस्थ होने और इलाज के संबंध में आश्वासन प्रदान करें इस दौरान क्षेत्रीय सांसद डॉक्टर के पी यादव सांसद डॉक्टर रोडमल नागर विधायक गुना श्री सहित अन्य जनप्रतिनिधि भी उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री यादव ने अभी कहा कि वह सुनिश्चित करेंगे कि ऐसी दुर्घटना दोबारा ना हो तथा या जांच का भविष्य है की आग कैसे लगी अधिकारियों के मुताबिक बुधवार रात करीब 9:00 बजे गुना रोड पर डंपर से टकराने के बाद निजी बस में आग लग गई। मुख्यमंत्री ने मृतकों के परिजनों को चार-चार लाख रुपये और घायलों को 50-50 हजार रुपए की सहायता देने की घोषणा की है।

आपको बता दे मुख्यमंत्री यादव के निर्देश पर कलेक्टर गुना श्री तरूण राठी द्वारा वस्तु घटना के कर्म की जांच के लिए अपर जिला दंडाधिकारी श्री मुकेश कुमार शर्मा की अध्यक्षता में चार सदस्य समिति गठित की गई है गुना के अनुविभागीय अधिकारी श्री दिनेश सांवले संभागीय अप परिवहन आयुक्त श्री अरुण कुमार सिंह तथा सहायक मंत्री विद्युत सुरक्षा श्री प्रांत सिंह राय जांच समिति के सदस्य होंगे।

हादसे करने वालों की खैर नहीं

यह समिति तीन दिन में जांच प्रतिवेदन प्रस्तुत करेगी मुख्यमंत्री यादव ने कहा कि गुना बस हादसा भैया वह है मैं और मेरी सरकारी घटना से बेहद दुखी है मैं पहले ही कह चुका हूं की घटना की जांच होनी चाहिए उन्होंने यह भी कहा किया सुनिश्चित करने के लिए कदम उठाएंगे की ऐसी दुर्घटना दोबारा से ना हो हालांकि यह जांच का विषय है।

कि ऐसे आज कैसे लगी इसी बीच एक अधिकारी ने बताया कि गुना के एक अस्पताल में घायलों से मिलने के बाद यादव ने मामले में लापरवाही के आरोप में गुना के क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी रवि बेडेलिया और मुख्य चिकित्सा अधिकारी बी कतरोलिया को निलंबित करने का आदेश दिया है।

उन्होंने कहा कि समिति को विभिन्न मुद्दों पर तीन दिनों के भीतर अपने रिपोर्ट सपना का निर्देश दिया गया है खासकर क्या क्या दुर्घटना में शामिल दो वाहनों के पास सभी कानूनी अनुमतियां थी और बस में आग कैसे लगी।

अनुविभागीय दंडाधिकारी सांवले ने बताया कि दुर्घटना के बाद बस आंख के गले में तब्दील हो गई और 13 लोगों की जलकर मौत भी हो गई पुलिस ने बताया है कि दुर्घटना के समय बस और उनकी ओर जा रही थी जबकि डंपर गुना की ओर जा रहा था पुलिस अधीक्षक विजय खत्री ने कहा कि घटना के समय बस में लगभग 30 यात्री थे और उसमें से कर किसी तरह वहां से बाहर निकलने में कामयाब रहे और अपने घर चले गए थे।

visit home page of jkyouthportal.in for the latest update

Leave a Comment